yogi majdur yojana 2020

yogi madur yojana

योजना का नाम मजदूर भत्ता योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा
लॉन्च की तारीक 21 मार्च 2020
लाभार्थी राज्य के मजदूर परिवार
उद्देश्य राज्य के मजदूरों को भत्ता प्रदान करना

योगी मजदूर योजना का उद्देश्य

जैसे की आप लोग जानते है जब से पूरे देश में कोरोना वायरस की वजह से हाहाकार मचा हुआ है जिससे लोग काफी डरे हुए है जिसकी वजह से मजदूर अपने कामो पर भी नहीं जा पा रहे है जिसकी वजह से पैसे न होने के कारण  मजदूर अपनी आर्थिक ज़रूरतों को पूरा नहीं कर पा रहे है और कोरोना वायरस की वजह से मंदी के भी आसार साफ दिखाई दे रहे है इन समस्याओ को देखे हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने इस उत्तर प्रदेश मजदूरभत्ता योजना के शुरू किया है इस योजना के ज़रिये दिहाड़ी मजदूरों और निर्माण श्रमिको को राज्य सरकार द्वारा अपनी दैनिक ज़रूरतों को पूरा करने के लिए 1000 रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान करना ।जिसे मजदूरों को घर पर किसी तरह की खाने पीने में कोई परेशानी न हो ।

क्या है Yogi Majdur yojana
1उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता | एक हजार रुपये भत्ते वाली मनी एट होम योजना – Money at Home Scheme
1.1कोरोना के चलते योगी सरकार की एक हजार रुपये मजदूर भत्ता योजना | UP Majdoor Bhatta 20201.
2कोरोना के चलते उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मजदूरों को एक हजार रुपये देने वाली योजना का आधिकारिक नाम क्या है?
1.3प्रदेश के किन किन मजदूरों को इस स्कीम का लाभ मिलेगा?
1.4यह एक हजार की सहायता राशि कहाँ मिलेगी?

किन मजदूरों को मिलेगा लाभ

उत्तर प्रदेश द्वारा चलाई जा रही yogi majdur YOJANA के जरिए प्रदेश सरकार के 80 लाख मजदूरों को वित्तीय मदद दी जाएगी। आपको बता दें इस योजना में उन मजदूरो को लिया जा रहा है जो श्रम विभागनगर विकास और ग्राम सभाओं में पंजीकृत हैं। इसमें श्रम विभाग के 20 लाख मजदूरों को मदद दी जाएगी, वंही नगर विकास के 16 लाख सफाई कर्मचारी को मदद मिलेगी। साथ ही इसमे 58000 ग्राम सभाओं के 20-20 मजदूरो को भी 1000 रूपए उनके खाते में दिए जाएंगे।

योगी मजदूर भत्ता योजना का उद्देश्य –कोरोना के चलते शुरू हुई यह योजना

आपको बता दे कोरोना वायरस के चलते बाजार में मंदी आ गई है। पढ़े लिखे लोग फिर भी कोई न कोई काम घर बैठे कर ही रहे हैं लेकिन वंही मजदूर तो दो वक्त की रोटी का भी मोहताज है। इसलिए योगी सरकार द्वारा मनी एट होम योजना को लागू किया गया है। ताकि मजदूर वर्ग के किसी भी व्यक्ति को खाने पीने की चीजों में किसी तरह की कोई समस्या न आए। इस योजना के जरिेए उत्तर प्रदेश के 80 लाख लोगों को एक एक हजार रूपए की मदद दी जाएगी

कैसे मिलेगा पैसा

आपके पास सभी जरूरी दस्तावेज मौजूद है और आपने अपना पंजीकरण श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम विभाग द्वारा कराया हुआ है तो आपको इस योजना के तहत 1000-1000 रूपए दिए जाएंगे। यह पैसा लेने के लिए आपको कहीं जाने की आवश्यकता नहीं होगी। यह धन सीधा मजदूरों के खातों में ट्रांसफर कर दिया जाएगा।

सम्बंधित प्रश्न और उत्तर

कोरोना के चलते उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मजदूरों को एक हजार रुपये देने वाली योजना का आधिकारिक नाम क्या है?

इस स्कीम का नाम “मनी एट होम” रखा गया है |

प्रदेश के किन किन मजदूरों को इस स्कीम का लाभ मिलेगा?

श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम सभाओं में पंजीकृत मजदूरों को इस योजना का लाभ मिलेगा|

यह एक हजार की सहायता राशि कहाँ मिलेगी?

सभी लाभार्थियों को बता दें यह सहायता राशि लेने की लिए किसी ऑफिस नहीं जाना होगा । सरकार द्वारा यह राशि सीधे पंजीकृत श्रमिकों के खातों में डाल दी जाएगी|

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top