प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान: (Garib Kalyan Rojgar) ऑनलाइन आवेदन

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान: (Garib Kalyan Rojgar) ऑनलाइन आवेदन

WWW.SARKARIYOJNAA.IN

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान को शुरू करने की घोषणा हमारे देश की वित् मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा देश के प्रवासी मजदूरों की मदद करने तथा उनको रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए की गयी इस अभियान को  हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा  20 जून को शुरू कर दिया गया है। देश में चल रहे कोरोना वायरस की वजह से लॉक डाउन के दौरान जो प्रवासी मजदूर दूसरे राज्य से अपने घर वापस लोट कर आये है उन्हें इस अभियान  के अंतर्गत काम दिया जायेगा। यह Garib Kalyan Rojgar Abhiyan 6 राज्यों के 116 जिलों में मिशन मोड में चलाया जाएगा, जो 125 दिनों तक चलेगा। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस योजना से जुडी सभी जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया ,पात्रता ,दस्तावेज़ आदि प्रदान करने जा रहे है अतः हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े और योजना का लाभ उठाये।इस अभियान के अंतर्गत देश के ग्रामीण क्षेत्रो के प्रवासी मजदूरों को अधिक लाभ प्रदान किया जायेगा। इस अभियान को 6 राज्यों के 116 जिलों में 125 दिनों तक प्रवासी श्रमिकों की सहायता के लिए मिशन मोड में चलाया जाएगा।  हमारे देश की वित्तमंत्री सीतारमण का कहना है कि हम 125 दिनों के भीतर सरकार की लगभग 25 योजनाओं को 116 जिलों तक पहुंचाएंगे। इन सभी योजनाओं को सरकार ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ के तहत साथ लाएगी। तथा हम सभी योजनाओं को 125 दिनों के भीतर सेचुरेशन लेवल पर लेकर जाएंगे। इस योजना का लाभ उठाने के लिए देश के प्रवासी मजदूरों को इस योजना के तहत आवेदन करना होगा। इस Pradhanmantri Garib Kalyan Rojgar Yojana के अंतर्गत लगभग 50 हज़ार करोड़ रूपये का खर्च सरकार द्वारा किया जायेगा।

मुख्य तथ्य गरीब रोजगार योजना 2020

अभियान का नाम प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान
इनके द्वारा घोषणा की गयी देश की वित् मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा
इनके द्वारा शुरू की जाएगी देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा
लॉन्च की तारीक 20 जून
लाभार्थी देश के प्रवासी मजदूर
उद्देश्य रोजगार के अवसर प्रदान करना

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान का उद्देश्य

जैसे की आप सभी लोग जानते है कि पूरे भारत देश के कोरोना वायरस का संकट बना हुआ है जिसकी वजह से पूरे भारत देश में  लॉक डाउन की स्थिति बनी हुई है । इस लॉक डाउन की वजह से सबसे जयादा असर देश के मजदूरों पर पड़ा है जो मजदूर काम की वजह से अन्य दूसरे राज्यों में रह रहे थे रोजगार बंद होने की वजह से उन पर बहुत प्रभाव पड़ा है रोजगार न होने की वजह से वह अपने घर वापस लोट आये है उन प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए इस प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरू किया गया है इस अभियान के ज़रिये अपने घर आये प्रवासी मजदूरों को रोजगार के अवसर प्रदान  किये जायेगे  और उनकी जीविका को सुधारा जायेगा। जिससे वजह काम करने अपने परिवार का भरण पोषण कर सके। और उनकी आर्थिक स्थिति को सुधारा जा सके।

Pradhanmantri Garib Kalyan Rojgar Abhiyan New Update

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान को शुरू करने के अवसर कर 20 जून को कॉन्फ्रेंस की गयी। इस कॉंफ्रेंस में हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के साथ कृषि विभाग के मिनिस्टर नरेंद्र सिंह तोमर ,उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ , बिहार में मुख्यमंत्री मान्य नितीश कुमार जी , एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ,राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत , झारखण्ड के सीएम हेमंत सोरेन और उड़ीसा के सीएम प्रताप जेन और केंद्र सरकार मान्य मंत्री गण आदि शामिल हुए। कोरोना वायरस की वजह से देश के प्रवासी मजदूरों श्रमिकों को काफी असुविधाएं हुए है। इस असुविधा को देखते हुए हमारे देश के प्रधानमंत्री जी के द्वारा आज के दिन 20 जून को इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत बिहार के खगड़िया जिले के बेलदौर प्रखंड के तेलिहार गांव से की गयी है।

पीएम गरीब कल्याण रोजगार योजना

कृषि मंत्री जी ने इस कॉन्फ्रेंस में कहा है की जैसे आप सभी लोग जानते है पूरा भारत देश कोरोना वायरस की वजह से बड़े संकट से गुज़र  रहा है इसी को देखते हुए देश में लॉक डाउन की स्थिति बनी हुई है। इसी को देखते हुए मान्य प्रधानमंत्री जी ने मजदूरों ,गरीबो किसानो आदि के लिए 70 हज़ार करोड़ रूपये का पैकेज शुरू किया था। देश के मजदूर, कामगार  रोजगार के लिए अन्य राज्यों में रह रहे थे वह कोरोना वायरस के कारण अपने घर वापस लोट आये है और अपने क्षेत्र में ही रहकर काम करना चाहते है तो उन्हें Garib Kalyan Rojgar Abhiyan के तहत अपने ही क्षेत्र में हुनर और रूचि के अनुसार रोजगार प्रदान  किया जायेगा। जिससे ग्रामीण क्षत्रो में रोजगार आयाम खुल सके।

गरीब रोजगार अभियान नयी घोषणा

हमारे देश के मान्य प्रधानमंत्री  जी ने कहा है कि इस अभियान के तहत 50 हज़ार करोड़ रूपये का खर्च केंद्र सरकार द्वारा किया जायेगा। यह अभियान 125 दिनों के लिए 6 राज्यों के 116 जिलों के सम्पन किया जायेगा। इस योजना के तहत 25 कार्य  प्रमुख रूप से चुने गए है।  इस चुने गए 25 कार्यो से रोजगार के अवसर तेज़ी से साथ सृजित होंगे। इस 125 दिनों के अभियान के तहत देश के अधिक से अधिक श्रमिकों , मजदूरों को रोजगार प्रदान किया जायेगा। बिहार के मुख्यमंत्री जी का कहना है कि यह गरीब कल्याण रोजगार अभियान बिहार में बाहर से  आये प्रवासी मजदूरों को काफी राहत पहुचायेगा।

क्रमांक संख्या राज्यों का नाम जिले आकांक्षात्मक जिले
1 बिहार 32 12
2 उत्तर प्रदेश 31 5
3 मध्य प्रदेश 24 4
4 राजस्थान 22 2
5 ओडिशा 4 1
6 झारखण्ड 3 3
कुल जिले 116 27

मोदी गरीब रोजगार योजना 2020

इस अभियान के तहत बिहार के 38 में से 32 जिलों का चयन किया गया है। इस योजना के अंतर्गत विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रो के विकास के मकसद से 25 विकास कार्य जैसे आंगनवाड़ी केंद्र , सामुदायिक केंद्र , कृषि ,सड़क , आवास ,बागवानी जल संरक्षण आदि पर जोर दिया जायेगा। गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत प्रधानमंत्री  जी के द्वारा एक और घोषणा कि गयी है पीएम जी का कहना है कि जहा पर पंचायत भवन नहीं है वहाँ पर पंचायत भवन का निर्माण किया जायेगा। और इस अभियान में आधुनिक गांव को भी जोड़ा जायेगा।इस अभियान के तहत बिहार ,राजस्थान ,मध्य प्रदेश ,उड़ीसा ,उत्तर प्रदेश झारखण्ड आदि इस 6 राज्यों के 116 जिलों के मजदूरों ,श्रमिकों और कामगार महिलाओ को घर के पास ही कार्य प्रदान किया जायेगा। जिससे प्रवसि मजदूरों को अपनी आजीविका के लिए बिहार रोजगार मिल सके।

योजना में 25 कार्यो की सूची

25 कार्य और गतिविधियों को प्राथमिकता के आधार पर करने का लक्ष्य निम्नलिखित तालिका में उल्लिखित है

क्रमांक संख्या कार्य / गतिविधि
1 सामुदायिक स्वच्छता केंद्र (CSC) का निर्माण
2 ग्राम पंचायत भवन का निर्माण
3 14 वें एफसी फंड के तहत काम करता है
4 राष्ट्रीय राजमार्ग कार्यों का निर्माण
5 जल संरक्षण और कटाई का काम करता है
6 कुओं का निर्माण
7 वृक्षारोपण का काम करता है
8 बागवानी
9 आंगनवाड़ी केंद्रों का निर्माण
10 ग्रामीण आवास कार्यों का निर्माण
11 ग्रामीण कनेक्टिविटी का काम करता है
12 ठोस और तरल अपशिष्ट प्रबंधन कार्य करता है
13 खेत तालाबों का निर्माण
14 पशु शेड का निर्माण
15 पोल्ट्री शेड का निर्माण
16 बकरी शेड का निर्माण
17 वर्मी-कम्पोस्ट संरचनाओं का निर्माण
18 रेलवे
19 रुर्बन
20 पीएम कुसुम
21 भारत नेट
22 CAMPA का वृक्षारोपण
23 पीएम उर्जा गंगा प्रोजेक्ट
24 लाइवलीहुड के लिए केवीके प्रशिक्षण
25 जिला खनिज फाउंडेशन ट्रस्ट (DMFT) काम करता है

मुख्य विशेषताएँ गरीब कल्याण रोजगार (Garib Kalyan Rojgar)

  • लॉक डाउन के दौरान को प्रवासी मजदूर अपने घर वापस लोट कर आये है उन्हें इस अभियान के तहत काम मुहैया कराया जायेगा।
  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान के अंतर्गत सबसे ज्यादा लाभ ग्रामीण क्षेत्रो के प्रवासी मजदूरों को प्रदना किया जायेगा।
  • देश के 6 राज्यों के116 जिलों में 125 दिनों तक गरीब कल्याण रोजगार अभियान चलेगा जायेगा  इस अभियान के सरकारी तंत्र प्रवासी श्रमिकों की सहायता के लिए मिशन मोड में काम करेंगे।
  • इस अभियान के तहत 116 जिलों के 25 हजार मजदूरों को 125 दिनों का काम मुहैया जायेगा।
  • आपको बता दें कि इन 6   राज्यों के 116 जिलों में करीब 67 लाख प्रवासी मजदूर वापस हुए हैं। इन 116 जिलों में बिहार में 32, उत्तर प्रदेश में 31, मध्य प्रदेश में 24, राजस्थान में 22, ओडिशा में 4 और झारखंड में 3 जिले शामिल हैं।
  • केंद्र सरकार द्वारा ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ का बजट 50 हजार करोड़ रुपये रखा गया है ।
  • PM Garib Kalyan Rojgar Abhiyan के तहत कम्युनिटी सैनिटाइजेशन कॉम्पलेक्स, ग्राम पंचायत भवन, वित्त आयोग के फंड के अंतर्गत आने वाले काम, नैशनल हाइवे वर्क्स, जल संरक्षण और सिंचाई, कुएं की खुदाई. पौधारोपण, हॉर्टिकल्चर, आंगनवाड़ी केंद्र, पीएमआवास योजना (ग्रामीण), पीएम ग्राम संड़क योजना, रेलवे, श्यामा प्रसाद मुखर्जी RURBAN मिशन, पीएम KUSUM, भारत नेट के फाइबर ऑप्टिक बिछाने, जल जीवन मिशन आदि के काम कराए जाएंगे।
  • इस अभियान को हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 20 जून को आरम्भ किया जायेगा।
  • इस योजना  का मकसद देश के ग्रामीण इलाकों में आजीविका के अवसर बढ़ाना और अपने घर वापस आये प्रवासी मजदूरों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाना।
    • ग्रामीण विकास मंत्रालय।
    • पंचायती राज मंत्रालय।
    • सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय।
    • खान मंत्रालय।
    • पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय।
    • पर्यावरण मंत्रालय।
    • रेलवे मंत्रालय।
    • पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय।
    • नई और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय।
    • सीमा सड़क विभाग।
    • दूरसंचार विभाग।
    • कृषि मंत्रालय।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top