इंदिरा गांधी मातृ पोषण योजना: ऑनलाइन आवेदनर जिस्ट्रेशन

इंदिरा गांधी मातृ पोषण योजना को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा राज्य में दूसरी संतान को जन्म देने वाली महिलाओ को लाभ पहुंचाने के लिए शुरू की गयी है

WWW.SARKARIYOJNAA.IN

|  राज्य की जो महिला दूसरी संतान को जन्म देगी उन्हें इस योजना के अंतर्गत दूसरी संतान के जन्म पर 6000 रूपये की धनराशि के रूप में  आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी | महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश का कहना है कि राज्य सरकार की इस Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana के तहत आने वाले 5 वर्षों में 225 करोड़ रूपये की राशि खर्च की जायेगी | इस योजना के ज़रिये मां के बेहतर स्वास्थ्य और दूसरी संतान के रखरखाव में मदद मिलेगी

यह योजना शुरूआत में प्रदेश के आदिवासी जिलों उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाड़ा व प्रतापगढ़ में चलाई जा रही है।इस योजना के अंतर्गत राजस्थान की 3 .75 लाख महिलाओ को दूसरी संतान को जन्म देने पर लाभांवित किया जायेगा |  Indira Gandhi Matritva Poshan का लाभ उठाने के लिए महिलाओ को इस योजना के तहत आवेदन करना होगा | इस योजना के तहत महिलाओ को दी जाने वाली 6000 रूपये की धनराशि माता के बैंक अकाउंट में अलग-अलग चरणों में निर्धारित शर्ते पूर्ण करने पर दी जाएगी। इसलिए आवेदिका का अपना बैंक अकाउंट होना चाहिए और बैंक अकाउंट आधार से लिंक होना चाहिए | आइये आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से राजस्थान इंदिरा गांधी मातृ पोषण योजना से जुड़ी सभी जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया ,पात्रता ,दस्तावेज़ आदि प्रदान करने जा रहे है |

राजस्थान इंदिरा गांधी मातृ पोषण योजना का उद्देश्य

जैसे की आप लोग जानते है कि राज्य कि बहुत सी ऐसी महिलाये है जिनको गरीब होने के कारण दूसरी संतान को जन्म देने पर अच्छे भरण पोषण नहीं मिल पता और बच्चे के रखरखाव में भी परेशानी होती है इसलिए राजस्थान सरकार ने इंदिरा गांधी मातृ पोषण योजना को शुरू किया है इस योजना के ज़रिये राज्य में दूसरी संतान को जन्म देने पर महिलाओ को सरकार द्वारा 6000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी | जिससे मां के बेहतर स्वास्थ्य और दूसरी संतान के रखरखाव में सहायता मिल सके और  दूसरे  बच्चे के जन्म पर माताओं को उचित पोषण मिल सके , ताकि स्तनपान करने वाली माताओ  और बच्चे के स्वास्थ्य में किसी प्रकार की कोई कमी ना आने पाए । यानि सरकार द्वारा दुसरे बच्चे के जन्म के उपरांत माँ और बच्चे के उचित पोषण को सुनिश्चित करना है।

IGMPY के लाभ

  • इस योजना का लाभ राजस्थान की उन महिलाओ को प्रदान किया जायेगा जो दूसरी संतान को जन्म देंगी |
  • राज्य की महिलो को  दूसरी संतान को जन्म देने पर राज्य सरकार द्वारा 6000 रूपये की धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी |
  • IGMPY के तहत सरकार द्वारा दी जाने वाली धनराशि सीधे लाभार्थी महिलाओ के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर की जाएगी |
  • महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश के अनुसार सरकार की इस योजना के तहत आने वाले 5 वर्षों में 225 करोड़ रूपये की राशि खर्च की जायेगी |
  • ममता भूपेश ने बताया कि राज्य सरकार महिलाओं एवं बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य उपलब्ध कराने के लिए निरन्तर प्रयासरत है।
  • इस योजना के ज़रिये सरकार द्वारा दी जाने वाली इस राशि के उपयोग से वह स्वयं व बच्चे के स्वास्थ्य की बेहतर देखभाल करने में समर्थ होगी |

इंदिरा गांधी मातृ पोषण योजना के दस्तावेज़ (पात्रता )

  • आवेदिका राजस्थान की स्थायी निवासी होनी चाहिए |
  • इस योजना का लाभ केवल राज्य की उन महिलाओ को दिया जायेगा जो दूसरी संतान की जन्म देंगी |
  • आवेदिका का बैंक अकाउंट होना चाहिए और बैंक अकाउंट आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए |
  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

इंदिरा गांधी मातृ पोषण योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

राज्य के इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें अभी थोड़ा इंतज़ार करना होगा |क्योकि हाल ही में इस योजना को शुरू किया गया है अभी इंदिरा गांधी मातृ पोषण योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन के तरीके को आरम्भ नहीं किया गया है जैसे ही RajasthanIndira Gandhi Matritva Poshan Yojana के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन प्रक्रिया को शुरू कर दिया जायेगा हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से बता देंगे और आप सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकते है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top